IPS Officer कैसे बने ? | IPS का Syllabus क्या है ? ( एकदम सटीक जानकारी )

आईपीएस का पूरा नाम INDIAN POLICE SERVICE है, जिसे हिंदी में भारतीय पुलिस सेवा के नाम से जाना जाता है  ब्रिटिश काल में आईपीएस को इंपीरियल पुलिस के नाम से जाना जाता था। आईपीएस एक सरकारी नौकरी है, जिसका स्थान हमारे देश में सबसे ऊंचा है। आईपीएस का पद देश के प्रतिष्ठित पदों में से एक है। आज हमारे देश के लाखों युवा वर्ग IPS Officer बनना चाहते हैं। आंखों में ख्वाब और हाथों में कलम लिए अपने ख्वाबों को हकीकत में बदलने की वे लोग पूरी कोशिश करते हैं।

IPS Officer कैसे बने

आखिर पुलिस की खाकी वर्दी और अशोक स्तंभ के शेर वाली गहरी नीली टोपी पहनना कौन नहीं चाहेगा। यह जिंदगी का वह ख्वाब है, जिसे आज के युवा हकीकत में बदलना चाहते हैं आज के युवा वर्ग इन ख्वाबों को पूरा करने के लिए आए दिन इंटरनेट के माध्यम से IPS क्या है, IPS Officer कैसे बने या IPS बनने के लिए क्या तैयारी करे जैसी चीजों पर Search करते रहते हैं।

तो, दोस्तों अगर आप ही IPS क्या है और IPS कैसे बने जानना चाहते हैं, तो हमारे आज के इस पोस्ट को बहुत ही ध्यान से पढे, क्योंकि आज हम आपको यहां IPS kaise bane ki puri jankari प्रदान करेंगे।

मैंने कितने ही युवा वर्गों के मुंह से सुना है और वह अक्सर यह कहते कि IPS Officer बनना बहुत मुश्किल काम है और आईपीएस बनना हर किसी के बस की बात नहीं होती।

तो दोस्तों मैं उन लोगों के लिए बता दूं, कि दुनिया में कोई ऐसा काम नहीं है, जो नामुमकिन हो। यदि आप कड़ी परिश्रम, लगन और बेहतर रणनीति के साथ तैयारी करोगे, तो मैं यकीन के साथ कह सकता हूं, कि आपको एक IPS Officer बनने से कोई भी नहीं रोक सकता।

वैसे तो हर साल लाखों की तादात में लोग सिविल सर्विसेज की परीक्षा देते हैं, इस उम्मीद के साथ कि वे परीक्षा में सफल होकर IAS, IPS और IFS बन सके।  लेकिन बहुत ही कम उम्मीदवार ऐसे होते हैं, जो इस परीक्षा में सफल हो पाते हैं।

IPS Officer बनने के लिए आपको सबसे पहले IPS की पूरी नॉलेज इकट्ठे करनी होगी। जैसे- IPS की तैयारी कैसे करे, IPS की पढाई कैसे करे  या IPS का syllabus क्या है, क्योंकि लाखो लोग इस परीक्षा की तैयारी करते है, लेकिन युवा सालों साल तैयारी करते हुए भी सफल नहीं हो पाते और कुछ युवा अपनी तैयारी इतने स्मार्ट तरीके से करते हैं, की उन्हें पहली बार में ही सफलता हाथ लग जाती है। 

वास्तव में, सफलता हासिल करने के लिए सबसे पहले अपनी मानसिक स्थिति को इस कठिन परीक्षा के लिए पूरी तरह से तैयार करना होगा, क्योंकि सिर्फ ख्वाब देखने से और प्रतिभा होने से सफलता प्राप्त नहीं होती।  इसके लिए प्रतिभा के साथ-साथ कठिन परिश्रम और मनुष्य की कुशल तालमेल के साथ ही इस परीक्षा को अटेम्प्ट किया जा सकता है। 

 कितने लोग कहते हैं कि IPS की परीक्षा बगैर ट्यूशन के नहीं निकाला जा सकता है। लेकिन, इस बात में कितनी सच्चाई है,  इस बात की जानकारी आपको इस पोस्ट को पढ़ने के बाद खुद ही प्राप्त हो जाएग। 

IPS Officer बनने के लिए सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास करना अत्यंत जरूरी है। यह परीक्षा हर साल आयोजित किया जाता है। IPS Officer बनने के बाद आपको सरकार की तरफ से कई तरह की सुख सुविधाएं प्राप्त की जाती है।  इसके साथ ही आपको पुलिस डिपार्टमेंट का हेड और पुलिस डिपार्टमेंट की सारी पावर सौंपी जाती है।

आज हम आपको अपने इस पोस्ट में IPS क्या है IPS कैसे बने, IPS बनने के लिए तैयारी कैसे करे, इसकी पूरी जानकारी प्रदान करेंगे और साथ ही जानेंगे की,  एक IPS Officer की Training कैसे होती है, IPS की salary कितनी होती है, यदि आप भी IPS Officer बनना चाहते हैं और आपको IPS  के बारे में पूरी जानकारी नहीं है, तो इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको IPS के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो जायेगी।

IPS क्या है ?

पुलिस अधिकारियों के सबसे श्रेष्ठ पद को IPS के नाम से जाना जाता है। IPS का फुल फॉर्म INDIAN POLICE SERVICE  है, जिससे हिंदी में भारतीय पुलिस सेवा के नाम से जाना जाता है। इसकी स्थापना 1948 में की गई थी। IPS सिविल सर्विसेज में सबसे प्रतिष्ठित पदों में से एक है, जो IAS के बाद आता है. 2011 के आंकड़ों के मुताबिक IPS Officer का वर्तमान कैडर का आकार 4730 है। इन कैडेट्स को गृह मंत्रालय के द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

IPS Officer बनने के लिए सिविल सर्विसेज की परीक्षा देनी होती है, जो UPSC के द्वारा प्रतिवर्ष आयोजित किया जाता है जो उम्मीदवार इस परीक्षा में सफल आते हैं, उन्हें उनके रैंक के मुताबिक पद दिए जाते हैं। IPS Officer बनने के लिए 3 कठोर परीक्षाओं को पार करनी होती है जिसके बाद कठोर ट्रेनिंग पीरियड से गुजरना पड़ता है तब जाकर प्रतियोगी IPS के पद पर नियुक्त होते हैं।

IPS Officer कैसे बने ?

IPS बनने के लिए सबसे पहले आपको सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास करनी होगी।  सिविल सर्विसेज की परीक्षा UPSC यानी संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा कंडक्ट की जाती है। प्रति वर्ष संघ लोक सेवा यानी UPSC एग्जाम की आयोजन करती है और यह परीक्षा 3 चरणों में होती है।

UPSC के द्वारा ली गई सिविल सर्विसेज की परीक्षा काफी मुश्किल होती है। तीन चरणों में ली गई इस परीक्षा के पहले दो चरणों में लिखित परीक्षा होती है तथा तीसरे यानी अंतिम चरण में इंटरव्यू होता है। जहां आपको परखा जाता है, कि आपके अंदर IPS  बनने की खूबी है या नहीं। इन परीक्षाओं को पास करने के बाद सभी प्रतियोगियों को सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी हैदराबाद में 3 साल की कठोर प्रशिक्षण दी जाती है।

IPS क्या काम करते है

एक IPS Officer का सबसे महत्वपूर्ण काम देश की कानून व्यवस्था को बरकरार रखना होता है, साथ ही सार्वजनिक शांति और व्यवस्था को बनाए रखना भी इनका काम है। एक IPS Officer अपराध को रोकते हैं, जांच करते हैं, भ्रष्टाचार के मामले में छानबीन करते हैं, पदार्थों की तस्करी, आपदा प्रबंधन और जैव विविधता पर ध्यान बनाए रखते हैं और खुफिया जानकारियों को इकट्ठा करते हैं IPS लोगो को सुरक्षा प्रदान करते हैं और आतंकवाद तथा अन्य अपराधों से जूझते हैं

एक IPS Officer,  Superintendent Police (SP), Senior Superintendent Police (SSP) और Deputy Inspector Police (DIG) के प्रति जवाब देह होते हैं। एक IPS भारतीय खुफिया एजेंसियों जैसे रिसर्च एंड एनालिसिस विंग, इंटेलिजेंस ब्यूरो, केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो, अपराध जांच विभाग आदि में भी काम करते हैं।

समय के साथ बदलते हुए समाज और आर्थिक परिवेश में लोगों के ख्वाहिशों के हिसाब से और देश के कानून तथा न्याय अखंडता एवं मानव अधिकार इत्यादि की रक्षा करने और लोगों के सामने पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ाने के लिए IPS Officer की एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

IPS बनने की योग्यता

अब तक आप जान चुके होंगे, कि IPS क्या है और  IPS क्या काम करते हैं. लेकिन सबसे जरूरी बात, जो एक प्रतियोगी को जाननि चाहिए वो है, की IPS बनने के लीए किन योग्यता की आवश्यकता होती है,  क्योंकि IPS एक महत्वपूर्ण पद है। इसलिए इसमें हमेशा सबसे जिम्मेदार और काबिल लोगों को ही भर्ती किया जाता है।

 इसके लिए लिखित परीक्षा के साथ-साथ मौखिक इंटरव्यू भी होता है और साथ ही शारीरिक परीक्षा भी ली जाती है जिसमे शारीरिक कौशल को नापा जाता है। यदि आपके पास यह सारी योग्यता है, तब ही आप एक IPS Officer के पद की ट्रेनिंग ले सकते हैं।  तो आइए जानते हैं कि आपके पास एक IPS Officer बनने की योग्यता है या नहीं।

शैक्षिक योग्यता

UPSC के द्वारा ली गई सिविल सर्विसेज की परीक्षा में शामिल होने के लिए प्रतियोगियों को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी अनिवार्य है। यदि विद्यार्थी स्नातक डिग्री के अंतिम वर्ष में है तब भी वह इस परीक्षा में बैठ सकता है।

आयु सीमा

General category

सिविल सर्विसेज की परीक्षा में शामिल होने के लिए प्रतियोगियों की न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 32 वर्ष होनी जरूरी है।

आरक्षित वर्ग यानी ST/SC

ST/SC वर्ग के लोगों के लिए सिविल सर्विसेज परीक्षा में 5 साल की छूट मिलती है।

OBC Category

OBC वर्ग के लोगों के लिए सिविल सर्विसेज परीक्षा में करीब 3 साल की छूट दी जाती है।

Physical यानी शारीरिक योग्यता

लंबाई (Hight) General category :- 

IPS बनने के लिए पुरुषों की लंबाई करीब 165 सेंटीमीटर और महिलाओं की लंबाई करीब 150 सेंटीमीटर होनी जरूरी है।

आरक्षित वर्ग यानी ST/SC

आरक्षित वर्ग यानी ST/SC वर्गों के लिए पुरुषों की लंबाई करीब 160 सेंटीमीटर और महिला वर्ग की लंबाई करीब 165 सेंटीमीटर होनी जरूरी है।

छाती (Chest) :- 

IPS में चयनित होने के लिए सभी वर्गो के पुरुषों की चेस्ट कम से कम 84 सेंटीमीटर और महिलाओं का चेस्ट करीब 79 सेंटीमीटर होना अनिवार्य है।

आंखों का दृष्टी  (Eyesight) :- 

IPS Officer बनने के लिए महिलाओं और पुरुषों दोनों के लिए आंखो की दृष्टी 66/69 होना चाहिए तथा दूर दृष्टि या कमजोर आंखों का विज़न 6/12 या 6/9 होना अनिवार्य है।

राष्ट्रीयता (Nationality) 

एक IPS Officer बनने के लिए भारत का नागरिक होना अनिवार्य है। लेकिन, यदि आप नेपाल और भूटान के  वासी है, तब भी आप सिविल सर्विसेज का फॉर्म भर कर इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

प्रयासों की संख्या (Number of Attempts)

  • IPS यानी UPSC के द्वारा ली गई सिविल सर्विस परीक्षा में Genral Category के प्रतियोगियों के लिए परीक्षा देने की प्रयासों की संख्या 6 बार है यानी सामान्य वर्ग के लोग 32 वर्ष तक परीक्षा दे सकते हैं।
  •  OBC वर्ग के लिए 35 साल रखी गई है।  OBC विद्यार्थी 35 साल तक करीब 9 बार सिविल सर्विसेज की परीक्षा दे सकते हैं।

 

  • आरक्षित वर्ग यानी कि ST/SC वाले विद्यार्थियों के लिए प्रयासों के सांख्य सीमा नहीं है। वे लोग  37 साल होने तक जितनी मर्जी उतनी बार सिविल सर्विसेज की परीक्षा दे सकते हैं।

 

  • स्पेशल कैटेगरी में शामिल विद्यार्थी यानी विकलांग वर्ग के जनरल विद्यार्थियों के लिए प्रयासों की संख्या 9 है। यानिं  ऐसे विद्यार्थी केवल 9 बार ही सिविल सर्विसेज प्रवेश परीक्षा दे सकते हैं।

 

  •  OBC और ST/S वर्ग के शारीरिक विकलांग विद्यार्थियों की प्रयासों की संख्या की कोई सीमा नहीं है। ऐसे वर्ग के लोग किसी भी आयु सीमा तक सिविल सर्विस की प्रवेश परीक्षा दे सकते हैं।

IPS एग्जाम पैटर्न

अब जानते है, की IPS एग्ज़ाम का पैटर्न क्या है और हमे इसके अन्तर्गत किन-किन विषयों को पढना चाहिए। 

IPS परीक्षा की जानकारी

अब तक आपने IPS kaise bane से जुड़ी सभी चीजों की जानकारी प्राप्त कर ली है, लेकिन सबसे जरूरी बात जो है  आईपीएस एग्जाम पैटर्न विद्यार्थियों को इसमे हमेशा, कन्फ्यूजन होता है कि IPS का एग्जाम कैसे होता है और IPS का exam कैसे लिया जाता है तथा कितनी चरणों में आईपीएस का एग्जाम होता है या IPS exam कितने नंबर का होता है ? तो आइए जानते हैं, की IPS exam का pattern क्या है ?

IPS बनने के लिए सिविल सर्विसेज की परीक्षा UPSC यानी संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा प्रत्येक वर्ष कंडक्ट की जाती है।

IPS बनने के लिए आपको सबसे पहले सिविल सर्विसेज की तीन परीक्षाओं को पास करना होता है।

प्रारंभिक शिक्षा (Preliminary Exam) यानी Prelims

मुख्य परीक्षा (Main Exam)

साक्षात्कार (Interview) 

आईये जानते है, यह परीक्षा कितने अंको की तथा कितने समय की होती है 

Preliminary Exam (प्रारंभिक परीक्षा) 

IPS बनने के लिए सबसे पहले आपको प्रारंभिक परीक्षा यानी प्रीलिम्स पास करना अनिवार्य है। UPSC के द्वारा आयोजित परीक्षा में 200-200 अंकों के दो विषय होते हैं। जहां,  पहला विषय सामान्य अध्ययन जो 200 अंको का होता है तथा दूसरा CSAT यहां परीक्षा भी 200 अंकों का ही होता है। 

इन परीक्षाओं में तर्क और विश्लेषण से संबंधित ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाते हैं। दोनों परीक्षाओं की समय अवधि दो 2 घंटे की होती है। इन परीक्षाओं में आपको पास होने के लिए से कम 33% मार्क्स लाने जरूरी है और यह ध्यान रखें कि इन परीक्षाओं का मार्क्स फाइनल मार्क्स यानी मेंस में नहीं जोड़े जाते हैं।

 इन परीक्षाओं में पास होने के बाद ही आप अगले स्तर की परीक्षा यानी Main Exam में बैठने के योग्य हो सकते हैं।

Main Exam (मुख्य परीक्षा)

यह एक लिखित परीक्षा होती है, इसमें वस्तुनिष्ठ प्रश्न ऑब्जेक्टिव क्वेश्चंस नहीं पूछे जाते हैं। इस परीक्षा में कुल 9 पेपर होते हैं जिन्हे दो भागों में बांटा गया है जहां पहला आता है, क्वालीफाइंग पेपर और दूसरा है, मेरिट पेपर।

क्वालीफाइंग पेपर :-

 क्वालीफाइंग पेपर के अंतर्गत दो पेपर शामिल होते हैं, यह दोनों ही पेपर कुल 300 मार्क्स के होते हैं। लेकिन, क्वालीफाइंग पेपर के मार्क्स को फाइनल यानी मेरिट पेपर में नहीं जोड़ा जाता है।

मेरिट पेपर :-

मेरिट पेपर के अंतर्गत 7 पेपर शामिल है और सभी पेपर कुल 250 मार्क्स होते हैं, यानी कि कुल 1750 मार्क्स का मेरिट एग्ज़ाम, होता है जिसमें क्वालीफाई करना अनिवार्य है। यदि आप मेरिट पेपर क्वालीफाई कर लेते हैं, तभी आप इंटरव्यू यानी पर्सनालिटी टेस्ट देने के योग्य होंगे।

IPS का सिलेबस क्या है

जैसा कि आपने ऊपर देखा कि IPS की परीक्षा तीन चरणों में होती है। लेकिन, जरूरी बात यह है कि इन तीन चरणों की परीक्षाओं को पास करने के लिए किन विषयों को पढ़ना जरूरी है। कितने विद्यार्थी हैं ऐसे हैं, जो इंटरनेट के माध्यम से सवाल पूछते हैं कि IPS Professional course kiya hai. ठीक है फिर, में  तुम्हें बताते चलूं  की IPS Professional course जैसा कुछ नहीं होता, IPS का सिलेबस जो है, यदि आप उन सिलेबस को सही रणनीति के साथ पढ़ते हैं तो आपको आईपीएस ऑफिसर बनने से कोई नहीं रोक सकता।

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)

 इस पेपर में आपको केवल ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाएंगे। जिसके लिए आपको भारत और विश्व का भूगोल, आर्थिक और सामाजिक विकास, सस्टेनेबल डेवलपमेंट, (गरीबी, जनसंख्या, बायोडायवर्सिटी) भारतीय राजतंत्र और गवर्नर (संविधान, पॉलीटिकल सिस्टम, पंचायती राज पब्लिक पॉलिस,  मेंटल इकोलॉजी, क्लाइमेट चेंज, ऑफ जनरल साइंस भारतीय इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन और राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय करंट अफेयर्स से संबंधित प्रश्न पूछे जाते।

जनरल नॉलेज

 पेपर 2 (GS -Paper 2)

दूसरे पेपर में पूछे गए प्रश्न भी ऑब्जेक्टिव ही रहेंगे। जिसके अंतर्गत आपको बेसिक न्यूमेरिकल, एनालिटिकल, एबिलिटी रीजनिंग, डाटा इंटरप्रिटेशन, (चार्ट, ग्राफ टेबल डिसीजन मेकिंग और प्रॉब्लम सॉल्विंग से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं।

मुख्य परीक्षा

 जैसा कि ऊपर बताया गया है कि मेंस की एग्जाम, पास करने के लिए आपको कुल 9 पेपर्स के एग्जाम देने होंगे जिनमें से सभी पेपर में पास होना अनिवार्य है। आइए देखते हैं कि इन पेपर्स  मैं किन विषयों को पढ़ना चाहिए।

क्वालीफाइंग पेपर 300 Marks

Modern Indian Language

इसके अंतर्गत प्रतियोगियों को संविधान की आठवीं सूची में सम्मिलित टीम को,  एक भाषा का चुनाव करना अनिवार्य है। इस विषय के अंतर्गत इंग्लिश, ट्रांसलेशन, निबंध, पैसेज, राइटिंग आदि संबंधित प्रश्न ते हैं।

अंग्रेजी 300 Marks

यह आपका कंपलसरी विषय होता है जिसमें आप से पैसेज, निबंध,  ट्रांसलेशन और राइटिंग कैसे प्रश्न पूछे जाते हैं जिसमें पास होना अनिवार्य है।

मेरिट पेपर 

मेरिट पेपर में शामिल सभी विषयों के मार्क्स फाइनल में जोड़े जाते हैं और इसी के हिसाब से आपको रैंक दी जाती है। मेरिट पेपर में सबसे पहले आपको जो विषय पढ़ना है वह है-

Paper 1 – निबंध 250 Marks

इस विषय में आपको करंट यीशु से संबंधित दिए गए टॉपिक पर निबंध लिखना होगा जो कुल 250 अंकों का होगा

paper 2  –  जनरल स्टडीज – 2 मे  250 Marks

इसमें आपको, 

  • भारतीय विरासत और संस्कृति ( Indian Heritage and Culture)
  •  विश्व का इतिहास और भूगोल तथा समाज( Geography of the World and society) 

Paper 3 – जनरल स्टडीज 2 250 Marks

  •  शासन व्यवस्था (Governance)
  • राजनीति (Polity)
  • संविधान शासन प्रणाली (Constitution)
  • सामाजिक न्याय (Social Justice)
  • अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय संबंधों (International Relations)

Paper 4 – जनरल स्टडीज 3 250 Marks

  • आर्थिक विकास (Economic Developmen)
  •   जैव विविधता (Biodiversity)
  • पर्यावरण (Environment)
  •  सुरक्षा तथा आपदा प्रबंधन (Security and Disaster Management)
  • प्रोद्योगिकी (Technology)

Paper 5 जनरल स्टडीज 4 – 250 Marks

अभिरुचि (Aptitude)

सत्यनिष्ठा (Ethics)

नीतिशास्त्र (General Studies)

Paper 6-7

 इन विषयों में आपको अपने मन मुताबिक ऑप्शनल विषय चुनने होते हैं। जिनमें दोनों पेपरों को मिलाकर कुल 500 मार्क का एग्जाम होता है, यानी कि 6th पेपर में 250 मार्क्स और 7th में 250 मार्क्स होते है।

पॉलिटिकल साइंस और अंतरराष्‍ट्रीय संबंध-Political science and international relations 
फिजिक्‍स-( Physics)
सिविल इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम-Civil Engineering Exam Syllabus)
मानव विज्ञान पाठ्यक्रम-Anthropology Exam Syllabus)
पशुपालन एवं पशुचिकित्सा विज्ञान पाठ्यक्रम-Animal Husbandry and Veterinary Science Exam Syllabus)
एग्रीकल्‍चर-Agriculture)
रसायन विज्ञान पाठ्यक्रम-Chemistry Exam Syllabus)
लॉ, मैनेजमेंट-Management)
मेडिकल साइंस-Medical Science)
भूगोल पाठ्यक्रम-Geography Exam Syllabus
इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम-Electrical Engineering Exam Syllabus)
भूगोल पाठ्यक्रम-Geography Exam Syllabus
पब्लिक एडमिनिस्‍ट्रेशन-Public Administration
मनोविज्ञान-Psychology)
समाजशास्त्र पाठ्यक्रम-Sociology Exam Syllabus
अर्थशास्त्र पाठ्यक्रम-Economics Exam Syllabus)
चिकित्सा विज्ञान पाठ्यक्रम-Medical Science Exam Syllabus
भूविज्ञान पाठ्यक्रम-Geology Exam Syllabus
मानव विज्ञान पाठ्यक्रम-Anthropology Exam Syllabus
सांख्यिकी-Statistics
यांत्रिकी इंजीनियरी पाठ्यक्रम-Mechanical Engineering Exam Syllabus
दर्शनशास्त्र पाठ्यक्रम-Philosophy Exam Syllabus

इसके अतिरिक्त लिटरेचर सब्जेक्ट यानी भाषा वाले विषय भी शामिल होते हैं, जैसे असमिया, बंगाली, बोडो, डोगरी गुजराती, हिंदी, कन्‍नड़, कश्‍मीरी, कोंकणी, मैथिली, मलयालम, मणिपुरी, संथाली, सिंधी, तमिल, तेलुगु, उर्दू और अंग्रेजी विषयों में से भी कोई एक विषय ऑप्शनल विषय पेपर में सुन सकते हैं।

साक्षात्कार (Interview)

साक्षात्कार एग्जाम यानी इंटरव्यू आप तब ही दे सकते हैं, जब आप मेंस एग्जाम में क्वालीफाई कर लेंगे। इंटरव्यू लगभग 45 मिनट का होता है तथा  प्रतियोगिताओं का  इंटरव्यू एक पैनल के सामने होता है, जो आप से काफी मुश्किल और ट्रिकी प्रश्न पूछते हैं। 

आपके न्याय के संतुलन बौद्धिक और सामाजिक सामंजस्य और नेतृत्व की क्षमता का आकलन किया जाता है। मेंस परीक्षा कुल  1750 अंको का होता है तथा साक्षात्कार यानी इंटरव्यू का कुल मार्क्स 275 होता है, यानी कि Total UPSC  का एग्जाम 2025 अंको का होता है।

 जहां यूपीएससी के द्वारा निकाले गए कट ऑफ के अनुसार मार्क्स आने पर UPSC यानी IPS का एग्जाम क्वालीफाई कर जाते हैं।  कुल मिलाकर यह पूरा एग्जाम 27 घंटों का होता है, जो आमतौर पर 5 से 7 दिनों में खत्म होता है। परीक्षाओं के बीच यदि बीच में कोई रविवार या नेशनल छुट्टी आ जाती है , तो उसकी छुट्टी परीक्षाओ के बिच मिलती है। 

यदि आप इंटरव्यू राउंड में पास हो जाते हैं तो आपको ट्रेनिंग सेंटर भेजा जाता है, जहां बहुत तरह के प्रशिक्षण दिए जाते हैं।

IPS परीक्षा की तैयारी कैसे करें

  • IPS परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए आपको प्रतिदिन कड़ी परिश्रम और लगन के साथ साथ लगभग 7 से 8 घंटे अध्ययन करना अति आवश्यक है।

 

  • IPS परीक्षा की तैयारी करने के लिए आपको सबसे पहले N.C E.R T की कक्षा 6 से 12 तक की History, Civics,Geography और Economics के बेसिक चैप्टर्स का अध्ययन करना अति आवश्यक है, क्योंकि यदि आपका आधार मजबूत होगा तभी आप आगे की पढ़ाई में रुचि ले पाएंगे।

 

  • IPS एग्जाम के लिए आपको लेटेस्ट करंट अफेयर्स की जानकारी रखनी होगी, जिसके लिए आपको प्रतिदिन न्यूजपेपर, न्यूज़ चैनल, योजना पत्रिकाएं आदि को पढ़ना होगा।

 

  • सिविल सर्विस परीक्षा में पास होने के लिए आपको अपने नोट्स स्वयं बनाने होंगे, ना कि किसी के द्वारा नोट्स लेकर कॉपी करें, क्योंकि यदि आप अपने नोट्स स्वयं बनाएंगे तो आपको उस विषय की अच्छी जानकारी प्राप्त हो पाएगी। 

IPS का चयन किस आधार पर होता है

  •  IPS का चयन हर साल UPSC के द्वारा आयोजित की गई सिविल सर्विसेज परीक्षा के माध्यम से होता है।

 

  •  IPS  के अंतिम रूप से चयन करने के लिए अभ्यर्थियों को परीक्षा के कुल अंकों और उनके द्वारा दी गई सेवा वरीयता सूची के आधार पर ही सेवा का आवंटन किया जाता है।

 

  •  हालांकि इस सेवा के साथ बहुत सारी चुनौतियां और उत्तरदायित्व भी जुड़े होते हैं, इसलिए UPSC आयोग इस सेवा के लिए ऐसे अभ्यर्थियों का चुनाव करता है, जो इसके अधिकतम अनुकूल हो

 

  •  UPSC IPS से जुड़ी सामाजिक प्रतिष्ठा के चलते देश के लाखों युवाओं में इसके प्रति जबरदस्त आकर्षण है और हर साल देश के लाखों युवा UPSC द्वारा आयोजित सिविल सर्विसेज परीक्षा में शामिल होते हैं।

IPS का प्रशिक्षण कैसे और कहां होता है

  • IPS के प्रशिक्षण के लिए सबसे पहले लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकैडमी, मसूरी में 16 सप्ताह के प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद IPS में चुने गए उम्मीदवारों को सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकैडमी, हैदराबाद में करीब 1 साल तक प्रशिक्षण दिया जाता है। 

 

  • यहां प्रतियोगियों को सबसे पहले संस्थागत प्रशिक्षण में 4 सप्ताह तक भारतीय दंड संहिता, भारतीय साक्ष्य अधिनियम तथा अपराध शास्त्र के सूक्ष्म जानकारी दी जाती है।

 

  • यहां इन ट्रेनी को शारीरिक व्यायाम, ड्रिल तथा हथियार चलाने पर विशेष ध्यान देने को कहा जाता है।

 

  •  IPS में चयनित लोगों को विभिन्न प्रकार के हथियारों का प्रशिक्षण दिलाने के लिए सीमा सुरक्षा बल के इंदौर स्थित सेंट्रल स्कूल फॉर वेपंस एंड प्रैक्टिस में 28 दिनों तक रखा जाता है।

 

  • जहां उन्हें हर तरह के छोटे और बड़े हथियारों को खोल ना और साफ करना सिखाया जाता है। इसके बाद टैक्टिक्स के अंतर्गत नक्शा पढ़ना, रात्रि विचरण, खोज तथा घात लगाने आदि सिखाया जाता है।

 

  • इसके अलावा प्रतियोगियों को घुड़सवारी, बढ़ती भीड़ को नियंत्रण करना, अग्निशमन, जनता के साथ मित्रवत व्यवहार, फोटोग्राफी, तैराकी, पर्वत रोहन, वाहन चलाना आतंकवाद नियंत्रण करना, बेहतर संचार प्रणाली तथा सांप्रदायिक दंगों आदि संबंधित प्रशिक्षण की जाती है।

 

  •  चरण 1 मे  प्रशिक्षण के बाद ट्रेनी को 1 साल के लिए पुलिस अधीक्षक, उपाधीक्षक तथा थाना अधिकारी के साथ नियुक्त किया जाता है।

 

  •  जहां ट्रेनिं विभिन्न प्रकार के अपराधी मामलों की जांच तथा कार्य प्रणाली प्रक्रिया व थानों की कार्यप्रणाली की जानकारी हासिल करते हैं।

 

  •  जिसके बाद चरण 2 ट्रेनी 1 साल का प्रशिक्षण पूरा करने के बाद परिविक्षाधीन अधिकारियों को UPSC द्वारा संचालित एक परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती हैं  जिसके बाद इन्हें व्यवहारिक प्रशिक्षण से संबंधित राज्य में सहायक पुलिस अधीक्षक के रूप में नियुक्त किया जाता है।

 

  • और उनका ट्रेनिंग समाप्त होता है और प्रत्येक अधिकारी को उसके निर्धारित कैडर में भेज दिया जाता है। हालांकि, यह भी एक प्रारंभिक प्रशिक्षण ही होता है जिसके बाद मिड करियर ट्रेनिंग प्रोग्राम के तहत उन्हें कई बार प्रशिक्षण दिया जाता है।

IAS का पूरा नाम और आईएएस कैसे बने

Conclusion 

मुझे उम्मीद है कि आज का यह पोस्ट IPS कैसे बने, IPS का Syllabus क्या है से आपको बहुत कुछ सीखने को मिला होगा। मुझे यकिन है, की आपको IPS से जुडी सभी जानकारियां प्राप्त होने के बाद आप यह सोच रहे होंगे, कि वाकई IPS बनना कितना मुश्किल है  लेकिन, जरा आप यह सोचो  कि यदि IPS बनना इतना आसान होता, तो आज देश के सभी युवा वर्ग IPS Officer बन कर समाज की सेवा कर रहे होते।

हालांकि मैं पहले भी बता चुका हूं, की जो लोग कड़ी मेहनत, लगन और निष्ठा के साथ इस परीक्षा की तैयारी करते है,  यकीनन वे लोग ही  IPS Officer बंते है, क्योंकि इस परीक्षा के लिए केवल परिश्रम और स्मार्ट वर्क की आवश्यकता है। यदि आपके पास यह खूबी है, तो आपको एक IPS बनने से कोई नहीं रोक सकता। लेकिन, हां यदि आप कामचोर है और आप मेहनत करने से बचते हैं तो आपके लिए IPS जैसी परीक्षा निकालना वाकई मुश्किल हो सकता है।

अन्त मे, यदि आपको आज का यह पोस्ट IPS Officer कैसे बने, IPS का Syllabus से संबंधित सभी सवालों के जवाब प्राप्त हो गए होंगे और आपको यदि यह पोस्ट अच्छे से समझ आया है, तो कृपया अपने दोस्तों को भी यह पोस्ट साझा करें, और कमेंट कर हमें बताएं की आपको यह लेख कैसा लगा।

Also Read:

Android App Developer कैसे बने ?

Facebook Profile Lock कैसे करें?

SEO Friendly Article कैसे लिखे?

Jio Phone में आईपीएल देखने का तरीका

Live IPL कैसे देखे ? : Latest Update

26 thoughts on “IPS Officer कैसे बने ? | IPS का Syllabus क्या है ? ( एकदम सटीक जानकारी )”

      • बहुत अच्छा है [IPS] बनना कौन नहीं चाहता ki वो भी एक आईपीएस ऑफिसर बने, सब चाहते है, पर बोलने से कुछ नहीं होता, अगर बनना हो तो रेगुलर 10 घंटे ki पढ़ाई करो, और पूरी मेहनत से बस पूरा दिन पड़ते रहो सब कुछ भूल जाओ ki बहार क्या हो रहा है, अगर एक बार आईपीएस बन गये, तो बहार वाले लोग तुम्हे सलाम मारेंगे 🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳

        Reply
  1. Bahut hi jyada badiya kafi kuch mila sikhne ko, or umid h ki mujhe aap se mili jankari se kuch prapt hoga

    Reply
  2. Mujhe apki information से काफी कुछ जानने को mila hai,,,इससे hme काफी help मिलेगी। thank u very much

    Reply
    • ख़ुशी की बात है आपको हेल्प मिली आपका फीडबैक हमें बेहतर बनाता है शुक्रिया

      Reply
  3. Mujhe is post se kafi jankari mili hai I am satisfied it please aap aise hi hume motivate karte rahiye Jisse ki jo yuva kuch bhi banna chahta hai uska dream complete ho sake lots of thank for it

    Reply
    • आपका भी बहुत शुक्रिया मुझे ख़ुशी हुई आपका फीडबैक जानकार पोस्ट को शेयर ज़रूर करें

      Reply
  4. Thank you so much sir…
    Aapke post se Hume bahut jankari mili hai… Agar Hume aise hi motivate karte rahenge to InshaAllah hum aage chalkar jaroor IPS officer banenge…😊

    Reply
  5. THANK YOU , ITNE MOST IMPORTANT INFORMATION DENE KE LIYE ,,,,,MAI AAPKA HMESHA AABHARI RHUNGI ,, JAY HIND ,,,,,,VANDE MATRAM ,,,

    Reply
    • Feedback dene ke liye Aapka bahut Shukriya jankari acchi lgi ho to frnds ke sath bhi share kre
      हम आपके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हैं.

      Reply

Leave a Comment