BDO Kaise Bane|बीडीओ ऑफिसर बनने की पूरी जानकारी – योग्यता, सिलेबस, सैलरी

आज भारत में हर कोई किसी ना किसी तरह की सरकारी नौकरी करना चाहता है। वीडियो एक बहुत ही प्रचलित, प्रतिष्ठित और जिम्मेदारी भरी नौकरी है जो समाज में आपकी सम्मान को कई गुना बढ़ा देती है। अगर आप गूगल पर BDO Kaise Bane की जानकारी ढूंढ रहे है तो आज आप बिल्कुल सही जगह पर है, इस लेख में हम आपको बीडीओ क्या कार्य करता है, बीडीओ बनाने के लिए योग्यता, उसकी तनख्वाह और इस तरह के अन्य आवश्यक प्रश्नों का सरल शब्दों में उत्तर देने का प्रयास कर रहे हैं।

BDO Kaise Bane
Image: BDO Kaise Bane

हर जिले में ब्लॉक होता है जिसे प्रखंड भी कहा जाता है उसके प्रमुख अधिकारी बीडीओ होते है जो एक ब्लॉक या प्रखंड के विकास के लिए जिम्मेदार होते है। आज इस लेख के माध्यम से इस प्रमुख अधिकारी के पद पर विराजमान होने की प्रक्रिया के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए BDO Kaise Bane के बारे में समझाया गया है। अगर आप कोई प्रतिष्ठित सरकारी नौकरी चाहते है तो आपको इस लेख के साथ अंत तक जुड़े रहना चाहिए।

BDO Kaise Bane|बीडीओ ऑफिसर बनने की पूरी जानकारी – योग्यता, सिलेबस, सैलरी

BDO Kaise Bane, इसके अलावा जानिए BDO अधिकारी कैसे बने, BDO officer का वेतन क्या होता है, BDO बननें के लिए शैक्षिक योग्यता कितनी, जैसी कुछ आवश्यक जानकारी आज के लेख मे दी गई है

बीडीओ क्या है

हर जिले में ब्लाक होता है जिसे प्रखंड भी कहते है, उसका कार्य एक निर्देशित स्थान पर विकास करना और वहां के लोगों के लिए आवश्यक योजना या दस्तावेज की पूर्ति करना होता है। बीडीओ वह सरकारी पद होता है जो सरकार के द्वारा उस ब्लाक के प्रमुख के रूप में नियुक्त किया जाता है जिसका कार्य ब्लॉक का विकास करना होता है। 

आपको हम बता देना चाहते हैं कि बहुत सारे पंचायतों को मिलाकर एक प्रखंड बनाया जाता है और उस प्रखंड के जरिए प्रत्येक पंचायत को योजना की राशि मिलती है ताकि ग्रामीण क्षेत्र विकास कर सके। उस प्रखंड को कैसे विकसित बनाया जाए और किस योजना को कैसे संचालित किया जाए इसकी पूर्ण जिम्मेदारी लेने वाले व्यक्ति को बीडीओ कहा जाता है।

BDO full form in hindi

BDO का फुल फॉर्म Block Development Officer होता है।

बहुत सारे पंचायत अधिकारी एक प्रखंड का निर्माण करते हैं और उस प्रखंड के मुखिया को वीडियो ऑफिसर कहा जाता है जो हर पंचायत के विकास के लिए अलग-अलग योजना को संचालित करता है। इसके अलावा उस प्रखंड से ताल्लुक रखने वाले प्रत्येक नागरिक को किसी भी प्रकार के दस्तावेज से जुड़ी समस्या का समाधान करता है। 

बीडीओ क्या कार्य करता है

जैसा कि हमने आपको बताया प्रत्येक जिला में कुछ ग्राम पंचायत को मिलाकर एक प्रखंड का निर्माण किया जाता है और उस प्रखंड के मुखिया के तौर पर बीडीओ का चयन किया जाता है। बीडीओ एक सरकारी कर्मचारी होता है जिसका मुख्य कार्य निर्देशित प्रखंड का विकास करना होता है। यह एक जिम्मेदारी भरा पद है जिसका मुख्य कार्य एक प्रखंड को विकसित करने के लिए योजनाओं को सही तरीके से संचालित करना का होता है। 

बीडीओ अधिकारी जिला के आईएएस ऑफिसर के अंतर्गत कार्य करता है और अलग-अलग पंचायत जो उसके प्रखंड से जुड़े होते हैं उनके विकास के लिए भी योजना और अन्य आवश्यक दस्तावेजों की पूर्ति करता है। इसके अलावा प्रखंड से जुड़े हुए नागरिक को विभिन्न प्रकार के दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जिन दस्तावेजों की पूर्ति ब्लॉक के द्वारा की जाती है ब्लॉक अपना कार्य सही तरीके से कर रहा है या नहीं इसकी देखरेख करना भी एक बीडीओ ऑफिसर का कार्य होता है।

यह भी पढिए – Subedar kaise bane | आर्मी मे सूबेदार कैसे बने? उनकी सैलरी, पद, और रैंक

बीडीओ बनाने के लिए योग्यता

ऊपर बताई गई जानकारियों को पढ़ने के बाद अगर आप बीडीओ बनने के बारे में विचार कर रहे है तो हम आपको आवश्यक योग्यताओं के बारे में बताने जा रहे है जिनके आधार पर आपको एक प्रखंड के बीडीओ ऑफिसर के तौर पर नियुक्त किया जाएगा। 

बीडीओ बनाने के लिए शिक्षण योग्यता

  • बीडीओ बनाने के लिए आपको राज्य सेवा आयोग की परीक्षा को पास करना होगा।
  • राज्य सेवा आयोग की परीक्षा देने के लिए आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज या विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।
  • बीडीओ बनाने के लिए आपको सबसे पहले अपनी प्रारंभिक शिक्षा पास करते हुए स्नातक की डिग्री किसी भी स्ट्रीम में हासिल करनी है।

बीडीओ बनाने के लिए उम्र सीमा

बीडीओ बनने के लिए न्यूनतम उम्र सीमा 21 वर्ष और अधिकतम उम्र सीमा 40 वर्ष रखी गई है मगर यह उम्र सीमा अलग-अलग वर्ग के लोगों के लिए अलग अलग तरीके से बांटा गया है। अगर आप ओबीसी वर्ग से हैं तो आपको उम्र सीमा में 3 वर्ष की छूट दी जाएगी और अगर आप एससी-एसटी वर्ग से हैं तो आपको उम्र सीमा में 5 वर्ष की छूट दी जाएगी।

  • सामान्य वर्ग के लिए – सामान्य वर्ग के लिए न्यूनतम उम्र सीमा 21 वर्ष अधिकतम उम्र सीमा 35 वर्ष है।
  • ओबीसी वर्ग के लिए – ओबीसी वर्ग के लिए न्यूनतम उम्र सीमा 21 वर्ष और अधिकतम उम्र सीमा 38 वर्ष रखी गई है।
  • एससी एसटी वर्ग के लिए – एससी एसटी वर्ग के लिए न्यूनतम उम्र सीमा 21 वर्ष और अधिकतम उम्र सीमा 40 वर्ष रखी गई है।

यह भी पढिए – एमबीबीएस डॉक्टर कैसे बने | MBBS Doctor Kaise Bane

बीडीओ कैसे बने (BDO Kaise Bane)

अगर आप ऊपर बताई गई जानकारियों को पढ़ने के बाद स्वयं को बीडीओ पद के लिए पात्र मानते है तो आप इसके लिए आवेदन कर सकते है। आप किस प्रकार बीडीओ के पद पर विराजमान हो सकते है इसके लिए सरल शब्दों में जानकारी नीचे सूचीबद्ध तरीके से बताई गई है, उसे ध्यान पूर्वक पढ़ते हुए निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करें – 

Step 1 – सबसे पहले अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी करें और स्नातक की डिग्री हासिल करें।

वीडियो बनाने के लिए आपको सबसे पहले अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी करनी है जिसमें आपको 10वीं और 12वीं की परीक्षा पास करते हुए किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री हासिल करनी है। वीडियो बनाने के लिए किसी भी खास विषय आइस क्रीम के बारे में नहीं बताया गया है आप किसी भी स्ट्रीम से स्नातक की डिग्री हासिल कर सकते हैं।

Step 2 – उसके बाद राज्य सेवा आयोग की परीक्षा पास करनी होगी, जिसमे पहले प्रीलिम्स की परीक्षा पास करनी है।

आपको बता दें कि सरकार के द्वारा हर साल राज्य सेवा आयोग की परीक्षा आयोजित करवाई जाती है। आपको ऑनलाइन राज्य सेवा आयोग की परीक्षा के लिए आवेदन करना है और निर्देश अनुसार राज्य सेवा आयोग के प्रवेश परीक्षा को पास करना है इस परीक्षा में केवल वैकल्पिक प्रश्न पूछे जाते है जिसमें कट ऑफ मार्क्स लाने वाले व्यक्ति को मेंस परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाती है। 

Step 3 – राज्य सेवा आयोग के द्वारा आयोजित मेंस की परीक्षा पास करें

जो छात्र प्रिलिम्स की परीक्षा कट ऑफ मार्क्स के साथ पास करते है उन्हें मेंस की परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाती है और मेंस की परीक्षा को पास करना होता है। आपको बता दें कि मेंस की परीक्षा लिखित रूप से ली जाती है जो एक समेटी एग्जाम होता है और आपके जवाब लिखने के तरीके को परखा जाता है। 

Step 4 – उसके बाद आपको इंटरव्यू पास करना है और आप बीडीओ के पद पर चयनित हो जाएंगे।  

ऊपर बताई गई सभी जानकारियों को पढ़ने के बाद अगर आप उचित कट ऑफ मार्क्स से प्रीलिम्स और मेंस की परीक्षा को पास करते हैं तो आपको इंटरव्यू देने का मौका दिया जाएगा। साक्षात्कार में आप किस तरह का मार्क्स लाते हैं उसके आधार पर आपका पूर्ण मेरिट लिस्ट बनेगा और उसके अनुसार बीडीओ के पद पर आप को चयनित किया जाएगा। 

बीडीओ बनाने के लिए कौन सी परीक्षा पास करनी होती है

वीडियो बनाने के लिए आपको राज्य सेवा आयोग की परीक्षा पास करनी होगी। यह परीक्षा प्रत्येक साल राज्य सरकार के द्वारा प्रत्येक राज्य में आयोजित करवाई जाती है। इस परीक्षा के मुख्य रूप से 3 भाग होते हैं प्रत्येक भाग को सरल शब्दों में नीचे स्पष्ट रूप से समझाया गया है।

प्रिलिम्स परीक्षा

राज्य सेवा आयोग में पहले प्रिलिम्स की परीक्षा होती है जिसमें वैकल्पिक प्रश्न पूछे जाते हैं इसमें 100 प्रश्न आते हैं जिनका सही उत्तर देते हुए कट ऑफ मार्क्स लाने वाले विद्यार्थी को मेंस की परीक्षा देने का अवसर दिया जाता है।

फिल्म्स परीक्षा आमतौर पर एक करंट अफेयर्स की परीक्षा है मगर इसमें लगभग सभी विषयों से प्रश्न पूछे जाते है। प्रिलिम्स परीक्षा में जितने भी सवाल पूछे जाते हैं सबका अस्तर बारहवीं कक्षा के आधार पर होता है। परीक्षा के इस स्तर को पास करने के लिए आपको करंट अफेयर्स मजबूत रखना है जिसके लिए रोजाना अखबार पढ़ें और प्रीवियस ईयर के क्वेश्चन पेपर को सॉल्व करना है।

मेंस परीक्षा

राज्य सेवा आयोग के द्वारा आयोजित परीक्षा का यह दूसरा चरण है जो एक लिखित परीक्षा होती है। जो विद्यार्थी विलियम्स की परीक्षा को पर्याप्त कट ऑफ मार्क्स से पास करता है उसे मेंस परीक्षा देने का अवसर दिया जाता है। यह एक लिखित परीक्षा होती है जिसमें प्रत्येक सवाल का जवाब लिखित रूप से देना होता है और इस परीक्षा में इतिहास, भूगोल, राजनीति, विज्ञान जैसे विषयों से प्रश्न पूछे जाते है और आपके जवाब लिखने की प्रतिभा को देखा जाता है।

इंटरव्यू या साक्षात्कार

जो व्यक्ति प्रिलिम्स और मेंस की परीक्षा को पास करता है उसे साक्षात्कार या इंटरव्यू देने का मौका दिया जाता है। इंटरव्यू में प्राप्त अंक के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार किया जाता है जिसके बाद राज्य सरकार के द्वारा दी जाने वाली प्रमुख पदों पर उन्हें विराजमान किया जाता है। बीडीओ राज्य सरकार के द्वारा दि जाने वाली एक प्रतिष्ठित पद है जो एक प्रखंड का मुखिया होता है जिस वजह से इस पद पर विराजमान होने के लिए आपको सबसे पहले राज्य सेवा आयोग की तीनों चरण की परीक्षा को पास करना आवश्यक है।

यह भी पढिए – Content Writer Kaise Bane | कंटेट राइटर कैसे बने?

बीडीओ की सैलरी

हम किसी भी नौकरी को उस में मिलने वाली तनख्वाह के लिए करते हैं वर्तमान समय में सरकारी नौकरी की मांग बड़ी तेजी से बढ़ रही है क्योंकि इसमें अच्छी तनख्वाह के साथ सरकार के तरफ से अलग अलग तरह की सुविधा भी दी जाती है। अगर हम बीडीओ के पद की बात करें तो यह एक प्रतिष्ठित पद होता है जिसमें आपको सरकार के तरफ से निशुल्क शिक्षा राशन स्वास्थ्य के साथ साथ घर और गाड़ी की सुविधा भी दी जाती है।

अगर हम बीडीओ के पद पर मिलने वाली तनख्वाह की बात करें तो शुरुआती माहसिक तनख्वाह ₹40000 से ₹60000 के बीच होती है। आगे चलकर यह तनख्वाह धीरे-धीरे बढ़ती है और रिटायरमेंट तक लाख रुपए प्रतिमाह मिलने लगता है। इसके साथ ही इस पद की गरिमा और इसके साथ मिलने वाली अन्य सुविधा बहुत आरामदायक होती है।

निष्कर्ष

इस लेख में हमने आपको यह समझाने का प्रयास किया कि BDO Kaise Bane, बीडीओ क्या कार्य करता है, इस पद पर विराजमान होने के लिए आपकी उम्र और शिक्षण योग्यता क्या होनी चाहिए, इसके साथ ही हमने आपको बीडीओ पद से जुड़े अन्य प्रकार की जानकारियों को सरल शब्दों में समझाने का प्रयास किया। 

अगर इस लेख को पढ़ने के बाद आप बीडीओ कैसे बनए, से जुड़ी अन्य प्रकार की जानकारी को समझ पाए है साथी इस पद और नौकरी के बारे में आपको विस्तार पूर्वक जानकारी मिली है तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें साथी अपने सुझाव विचार या किसी भी प्रकार के प्रश्न को कमेंट में पूछना ना भूले। 

Leave a Comment